पंचमढ़ी में घूमने लायक सबसे अच्छी जगहे-Best places to visit in Panhmadhi in hindi

पंचमढ़ी(Panchmadhi) मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में स्थित है। यह खूबसूरत हिल स्टेशन अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए विश्व विख्यात है। पंचमढ़ी को इसकी खूबसूरती की वजह से सतपुड़ा की रानी भी कहा जाता है। यहां घूमने के लिए सबसे अच्छा माहौल बनता है | 

यहां घूमने लिए सबसे अच्छी जगहों में खूबसूरत झरने, चारो तरफ फैली पहाड़ियों को और शंकर जी के मंदिरों आदि प्रमुख रूप से है। यहां लगभग लाखों की संख्या में हर साल पर्यटक आते हैं। यह स्थान अपने  इतिहास  खूबसूरत पेड़ पौधों और घने जंगलों के लिए विश्व प्रसिद्ध है। 

यहां पर विशेषकर गर्मियों में काफी अधिक संख्या में पर्यटक आते हैं। यहां पर विशेष पारिवारिक यात्रा या हनीमून ट्रिप के लिए भी लोग पंचमढ़ी को पसंद करते हैं। पंचमढ़ी मध्यप्रदेश पर्यटन की एक अमूल्य धरोहर है।  इसे यूनेस्को बायोस्फीयर रिजर्व के रूप में मान्यता भी प्रदान की जा चुकी है। 

तो आइए दोस्तों पंचमढ़ी की कुछ खूबसूरत घूमने वाली जगहों के बारे में जानते हैं।

Table of Contents

 पंचमढ़ी में घूमने की प्रसिद्ध जगह बी फॉल( Bee fall in hindi)

bee fall ghumne jagah informative

भारत के सबसे खूबसूरत झरना में से एक भी फॉल लगभग 35 मीटर ऊंचा झरना है जो देखने में अत्यंत मनमोहक लगता है। इसे जमुना प्रपात भी कहा जाता है। यह पंचमढ़ी के सबसे आकर्षक पर्यटन स्थलों में एक माना जाता है। यह झरना स्थानीय लोगों के लिए पीने का पानी का भी स्त्रोत है। 

बी फॉल झरने का नाम इसलिए पड़ा क्योंकि यह झरना कुछ दूरी से देखने पर एकदम मधुमक्खी जैसा गिरता हुआ दिखता है। यहां पर पर्यटक। झरने के नीचे स्नान और पानी जैसे खेल खेलते हैं। इस झरने के आसपास का माहौल अत्यंत शांत और सुंदर है। 

यह प्राकृतिक झरना उन प्रमुख चरणों में है जहां का पानी पीने योग्य माना जाता है। आप यहां अपने परिवार और अपने दोस्तों के साथ इस झरने को देखने का आनंद उठा सकते हैं।

पंचमढ़ी में घूमने की प्रसिद्ध जगह रजत प्रपात बड़ा झरना(rajat prapat ya bda jhrna)

rajat prapat informative

यह एक बेहद खूबसूरत झरना पंचमढ़ी का सबसे बड़ा झरना माना जाता है। इसकी ऊंचाई लगभग 106 फीट है। यह झरना पंचमढ़ी के देखने योग्य सबसे अच्छे चरणों में से एक है। यह बहुत तंग की ऊंचाई से बहता हुआ एक बारी की चांदी की चमक दिखाता हुआ लकीर बनाता है। 

झरना देखने में अत्यंत सुंदर लगता है। पर्यटक यहां आकर अपनी छुट्टियां बिताते हैं। पर्यटकों के लिए एक अत्यंत महत्वपूर्ण पर्यटन केंद्र है। अधिक ऊंचाई से गिरने के कारण यह जानना देखने में बहुत ही सुंदर लगता है।

पंचमढ़ी में घूमने की प्रसिद्ध जगह हांडी खोह(handi khoh) 

handi khoh informative

हांडी खोह पचमढ़ी पहाड़ी इलाके का सबसे महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल है। यह एक खूबसूरत घाटी है। इसकी ऊंचाई जमीन से लगभग 300 फीट की है।

हांडी खो चारों तरफ से घने जंगलों से घिरा हुआ है। यह तो एक समृद्ध पौराणिक इतिहास देखने को भी मिलता है। प्राचीन कहानियों के अनुसार इस क्षेत्र को एक जहरीले सांप ने अपने अधिकार में ले लिया था।

 शिव जी ने नाराज होकर इस पूरे क्षेत्र को नष्ट कर दिया। इसको में एक झील भी हुआ करती थी जो सांप को समाप्त करने के बाद भी सूख गई। यहां का वातावरण अत्यंत शांतिपूर्ण है। पर्यटक यहां आकर एक अत्यंत पुराने आकर्षक पर्यटन स्थल का आनंद ले सकते हैं।

ये भी जाने 

भोपाल में घूमने वाली प्रमुख जगहें  

भारत में स्काइडाइविंग की जगहें 

पंचमढ़ी में घूमने की प्रसिद्ध जगहपांडव की गुफाएं(pandav ki gufaye)

pandav ki gufaye informative

पत्थरों के द्वारा निर्मित यह गुफाएं मुख्य रूप से पंचमणि के लिए प्रमुख पर्यटन स्थान है। इन गुफाओं का निर्माण पत्थरों को काटकर किया गया है। कहा जाता है कि यहां पांडवों ने अपना अज्ञातवास बिताया था। गुफा है देखने में प्राचीन, किंतु अंदर से बहुत ही आकर्षक हैं और इन गुफाओं के अंदर नक्काशी भी की गई है।

आप इन गुफाओं में अंदर जाएंगे तो महसूस करेंगे कि आपकी आवाज इन गुफाओं के अंदर गूंजने लगती है। इन गुफाओं का इतिहास आज से लगभग एक शताब्दी ईस्वी पूर्व का माना जाता है। कभी-कभी कहा जाता है कि यहां पर यहां पर बौद्ध भिछवो ने भी शरण ली थी।

पंचमढ़ी में घूमने की प्रसिद्ध जगह जटाशंकर गुफाएं(jatashankar gufaye)

jatashankar informative

पंचमढ़ी की खूबसूरत जगहों में से एक जटाशंकर की गुफाएं भी हैं। इन का ऐतिहासिक महत्व भी है। कहा जाता है कि भगवान शिव ने जब भस्मासुर को वरदान दिया था तो उस वरदान को आजमाने के लिए भस्मासुर ने स्वयं भगवान शिव। के ऊपर आजमाना चाहा। तो भगवान शिव! उससे बचने के लिए इन्हीं जटाशंकर की गुफाओं में आ कर छिपे थे। यहां पर काफी अधिक संख्या में पर्यटक भगवान शिव की पूजा करने आते हैं।

 जा यहां पर कहा जाता है कि यह गुफा लगभग शेषनाग के आकार की है और इस गुफा के अंदर भगवान शिव का एक विशाल शिवलिंग है। यह गुफा देखने में अत्यंत खूबसूरत और रमणीय स्थल है। आप यहां आकर भगवान शिव की आराधना कर सकते हैं।

पंचमढ़ी का खूबसूरत हिल स्टेशन धूपगढ़(panchmarhi hill station dhupgarh)

dhoopgarh informative

पंचमढ़ी के सबसे खूबसूरत पर्यटन स्थलों में से एक पंचमढ़ी हिल स्टेशन को सतपुड़ा की रानी भी कहा जाता है। पंचमढ़ी हिल स्टेशन पर पर्यटक विशेषकर। उगते हुए सूरज और डूबते हुए सूरज को देखने के लिए जरूर आते हैं।

यह एक अत्यंत सुंदर पहाड़ की सबसे ऊंची चोटी है। पंचवड़ी पंचमढ़ी में घूमने की जगह में यह सबसे अच्छी जगह मानी जाती है। प्रकृति और एडवेंचर के प्रेमी यहां जरूर आते हैं। आप यहां आकर प्राकृतिक नजारों और मनमोहक प्रदेश से को देख सकते हैं।

पंचमढ़ी में घूमने की प्रसिद्ध जगह महादेव हिल्स की यात्रा(mahadev hills) 

mahadev hills informative

पंचमढ़ी की बीच पहाड़ियों में भगवान शिव का एक अत्यंत प्राचीन मंदिर है। जय महादेव हिल्स कहा जाता है। इस मंदिर में भगवान शिव और शालिग्राम की प्राचीन मूर्तियां है। यह मूर्तियां अत्यंत पवित्र मानी जाती है। यहां काफी संख्या में पर्यटक और भगवान शिव के प्रेमी यहां आते हैं। इसी मंदिर के पास में ही एक अत्यंत प्राचीन गुफा भी स्थित है जिस गुफा के अंदर। बेहद प्राचीन चित्र बने हुए हैं।

इस मंदिर के दूसरी तरफ एक पवित्र तालाब भी है जहां पर भक्त डुबकी लगाकर भगवान शिव की आराधना प्रारंभ करते हैं। पंचमढ़ी के खूबसूरत जगह घूमने में यह स्थान भी अत्यंत महत्वपूर्ण है। यहां पर्यटकों को एक बार जरूर आना चाहिए।

पंचमढ़ी में घूमने की प्रसिद्ध जगह डचेस फाल(daches falls) 

duches falls

यूं तो पंचमढ़ी की संपूर्ण क्षेत्र में अनेक प्रकार के वाटरफॉल हैं। इन वाटर फाल्स में डच फॉल भी एक महत्वपूर्ण फाल्स है जो यहां पर राजसी ठाठ बाट को दर्शाता है। यह पंचमढ़ी की सीमा से लगभग! 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है या फॉल  इतना बड़ा है कि 100 मीटर से अधिक के क्षेत्र में झरने के रूप में गिरता है।

इस झरने का गिरता हुआ पानी जब नीचे स्थित तालाब पर गिरता है तो अलग-अलग कैस्केड में बदल जाता है और देखने में या अत्यंत मनमोहक लगता है। पर्यटक यहां इस झरने को देखने और इसके फोटो लेने के लिए अधिक संख्या में पंचमणि पहुंचते हैं। यह झरना अत्यंत सुंदर और मनमोहक बिकता है।

पंचमढ़ी में घूमने की प्रसिद्ध जगह सतपुड़ा राष्ट्रीय उद्यान(satpura national park) 

satpura national park

वन्यजीवों के प्रेमी सतपुड़ा राष्ट्रीय उद्यान जरूर जाते हैं चुकी है। प्रमुख रूप से एक भाग्य ब्रायन है। यह आपको विभिन्न प्रकार की वस्तुएं और अनेक प्रकार के जंगली जानवरों को करीब से देखने का अवसर प्राप्त होता है। यह सतपुरा रेंज के पहाड़ों में ही स्थित है। यह पाक लगभग 202 वर्ग मील से भी अधिक के विशाल क्षेत्र में फैला हुआ है। यहां पर आपको अनेक प्रकार के जीव जंतु देखने को मिल सकते हैं। इसके अलावा आप को  मैदान औषधि पौधे और जल निकाय के अनेक साधन यहां मौजूद हैं।

 विशेषकर अक्टूबर और नवंबर के महीनों में तो इस उद्यान में आप प्रवासी पक्षियों को भी देख सकते हैं यह स्थल पंचमढ़ी के पर्यटन के लिहाज से सबसे महत्वपूर्ण स्थल भी है। यहां काफी अधिक संख्या में पर्यटक। इस जंगल एडवेंचर का आनंद उठाते हैं।

प्रवेश शुल्क (entry fees) 

भारतीय पर्यटक ढाई सौ रुपए विदेशी पर्यटक ₹500।

जीप सफारी के लिए तीन अलग-अलग पैकेज उपलब्ध है। पहला 2750 दूसरा 3050 और तीसरा 3670 रूपये 

पंचमढ़ी में घूमने की प्रसिद्ध जगह प्रियदर्शनी प्वाइंट(priyadarshini point) 

priyadarshini point informative

पंचमढ़ी के सबसे खूबसूरत पॉइंट्स मैसेज एक प्रियदर्शनी पॉइंट विशेषकर फोटो लेने के शौकीन लोगों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण स्थान है। यह सुंदर स्थान पूरे पंचमढ़ी का एक अत्यंत मनमोहक आइब्रो देता है। यहां खड़े होकर आप पूरे पंचमढ़ी को और उसके खूबसूरत स्थलों को देख सकते हैं। कहा जाता है कि इस स्थान को लगभग अट्ठारह सौ ईसवी में खोजा गया था।

उसके बाद से यह स्थान पंचमढ़ी की सबसे खूबसूरत हिल स्टेशनों में। प्रमुख हो गया। यहां का अत्यंत शांत परिदृश्य। पर्यटकों को आकर्षित करता है। यह स्थल तस्वीरों को लेने के लिए। अत्यंत उत्तम उत्तम स्थान है। आप यहां अपने दोस्तों परिवार के साथ? यात्रा का आनंद ले सकते हैं।

पंचमढ़ी में घूमने की प्रसिद्ध जगह चौरागढ़ मंदिर(chauragarh mandir) 

chauragarh

यह मंदिर अत्यंत प्राचीन मंदिर है। इस मंदिर तक पहुंचने के लिए लगभग 1300 सीढ़ियों को चढ़कर ही पहुंचा जा सकता है। इस मंदिर की खास बात आपको इस मंदिर के अंदर हजारों त्रिशूल मिलेंगे जो इस मंदिर की दीवारों पर फंसे हुए हैं। यहां पर कहा जाता है कि हर साल हजारों की संख्या में शिवप्रेमी भक्त इस मंदिर में प्रार्थना करने के लिए आते हैं।

यह मंदिर चारों तरफ से घाटियों और जंगल से घिरा हुआ है। विशेष बात यह है कि प्रातः कालीन मंदिर के दर्शन को जाने वाले पर्यटक को यहां सूर्योदय का एक अत्यंत मनमोहक दृश्य देखने को मिलता है। इसके अलावा इस शिव मंदिर में भगवान शिव की अत्यंत प्राचीन प्रतिमा भी विराजमान है। पर्यटन के लिहाज से भी पंचमढ़ी का यह प्रमुख पर्यटन केंद्र है।

पंचमढ़ी में घूमने की प्रसिद्ध जगह गुप्त महादेव मंदिर(gupt mahadev temple) 

पंचमढ़ी के बड़ा महादेव मंदिर से थोड़ी दूरी पर स्थित गुप्त महादेव मंदिर है। यह एक अत्यंत विशाल गुफा मंदिर है जो भगवान शिव को समर्पित है। पर्यटक यहां भगवान शिव के दर्शन को नियमित रूप से आते हैं। हालांकि या माना जाता है कि यह गुफा अत्यंत सक्रिय है और लगभग 45 मीटर लंबी है गुफा में प्रवेश करने के लिए एक बार में केवल एक ही व्यक्ति को ही इजाजत होती है।

और यह भी कहा जाता है कि इस अंधेरी गुफा में जाने के लिए पर्यटकों को टोर्च की आवश्यकता होती है। यह गुफा अत्यंत प्राचीन है। कहा जाता है कि भगवान शिव ने यहां पर आराधना की थी। यह संकरी गुफा पंचमढ़ी के पर्यटन के लिहाज से अत्यंत महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल है।

पंचमढ़ी की यात्रा करने का सबसे अच्छा समय(best time to travel panchmarhi) 

वैसे तो कहा जाता है कि यहां का मौसम पूरे वर्ष भर सबसे सुहावना रहता है हालांकि पंचमढ़ी हिल स्टेशन को जाने का सबसे अच्छा समय अप्रैल से जून तक का माना जाता है  कि इन गर्मियों में यहां का मौसम काफी सुहावना होता है। हालांकि मानसून के समय यात्रा करने पर आपको यहां पर वर्षा का अनुभव हो सकता है। सर्दियों में यहां का तापमान अन्य क्षेत्रों से लगभग 5 डिग्री कम होता है।

पंचमढ़ी कैसे पहुंचे(how to reach panchmarhi)

हवाई साधन से पंचमढ़ी पहुंचने के लिए आपको निकटतम हवाई अड्डा, भोपाल और जबलपुर है। जहां से दिल्ली और  इंदौर के लिए इन शहरों के लिए आसान उड़ाने मिलती हैं।

सड़क परिवहन से आपको पंचमणि पहुंचने के लिए। भोपाल, जबलपुर, नागपुर, इंदौर और कान्हा नेशनल पार्क से नियमित बसें उपलब्ध है। यह छावनी शहर होने के कारण यहां की सड़कों की स्थिति काफी अच्छी भी है। पंचमढ़ी की यात्रा सड़क से ही पूरी की जाती है।

ट्रेन द्वारा पंचमणि पहुंचने के लिए निकटतम रेलवे स्टेशन पिपरिया रेलवे स्टेशन है। इसके अलावा आपको एक महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन इटारसी रेलवे स्टेशन भी पहुंच सकते हैं।

Leave a comment