पैराग्लाइडिंग के रोमांचक सफर का आनंद ले भारत की इन खूबसूरत जगहों पर

पैराग्लाइडिंग एक बेहद रोमांचक और खूबसूरत सफर है जो पहाड़ की ऊंची चोटी से एक विशेष प्रकार के बैलून के सहारे हवा में उड़ते रहने का एहसास कराता है।पैराग्लाइडिंग अब विदेशों के साथ-साथ भारत में भी बेहद लोकप्रिय हो चुका है। पैराग्लाइडिंग का अपना आनंद होता है जिसकी कल्पना करना भी मुश्किल है।

Contents hide
2 भारत में पैराग्लाइडिंग करने के लिए प्रमुख जगहें
image credit by pixels

परिंदों की भांति हवा में उड़ते हुए आगे बढ़ने का एहसास मन में रोमांच भर देता है।दोस्तों अगर आप कभी मन आसमान की ऊंचाइयों को छूने का कर रहा है तो पैराग्लाइडिंग से बेहतर विकल्प कोई और हो ही नहीं सकता। भारत में इसके बढ़ते हुए क्रेज को देखते हुए भारत में कई राज्यों में पैराग्लाइडिंग की सुविधा उपलब्ध कराई गई है।और सबसे रोचक बात यह है कि भारत की पैराग्लाइडिंग अन्य देशों की पैराग्लाइडिंग से और अच्छे स्तर की मानी जाती है।तो आइए दोस्तों शुरू करते हैं पैराग्लाइडिंग के विषय में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

पैराग्लाइडिंग क्या है? पैराग्लाइडिंग कैसे की जाती है?

पैराग्लाइडिंग एक प्रकार का बहुत ही रोमांचक और साहसिक खेल माना जाता है। पैराग्लाइडिंग करने के लिए हमें सबसे पहले ऊंचे स्थान की आवश्यकता होगी जहां से हम एक विशेष प्रकार के बने हुए फैब्रिक विंग के नीचे हार्नेस पर बैठकर उड़ान भर सकते हैं। या गुब्बारा फैब्रिक का बना होता है जिसमें हवा भरी होती है और और फैब्रिक विंग के किनारों पर बंधी हुई रस्सियां हमें संतुलित उड़ान भरने में मदद करती हैं।

फैब्रिक विंग के सहारे इंसान कई घंटों तक हवा में उड़ान भर सकता है। पंछियों की तरह आसमान में काफी देर तक समय व्यतीत कर सकता है। यह एक बेहद ही रोमांचकारी अनुभव होता है जिसे पैराग्लाइडिंग करने वाला व्यक्ति जीवन भर नहीं भूल सकता। पैराग्लाइडिंग करने के लिए पायलट को ऊंचे स्थान पर जाना पड़ता है फिर वहां से उसे उड़ान करने के लिए नीचे की तरफ छलांग लगाना पड़ता है फैब्रिक विंग के सहारे या काफी देर तक आसमान में उड़ता रहता है।

भारत में पैराग्लाइडिंग करने के लिए प्रमुख जगहें

हिमांचल प्रदेश

image credit by pixabay

बीर बिलिंग

बीर बिलिंग को भारत ही नहीं दुनिया का सबसे अच्छा पैरा ग्लाइडिंग सेंटर माना जाता है। इसकी प्रमुख वजह है कि यहां का वातावरण पैराग्लाइडिंग करने के लिए सबसे अनुकूल होता है। हवा में उड़ते हुए नीचे के सुंदर पर इस दृश्य को देखने के लिए भी बीर बिलिंग सबसे प्रसिद्ध है। बीर बिलिंग को पैराग्लाइडिंग की राजधानी की माना जाता है क्योंकि यहां पर पैराग्लाइडिंग का एकमात्र विश्वकप आयोजित किया जाता है।

यहां का अनुकूल मौसम मध्यम हवा और खूबसूरत परिदृश्य पर्यटकों को यहां पर पैराग्लाइडिंग करने के लिए विवश कर देती हैं। वीर जोगी टेक ऑफ पॉइंट है जहां से आप पैराग्लाइडिंग के लिए उड़ान भर सकते हैं जबकि बिलिंग आपका लैंडिंग साइड होता है जो कि बीर से 14 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

बीर बिलिंग में पैराग्लाइडिंग करने का सबसे अच्छा समय

बीर बिलिंग में पैराग्लाइडिंग करने का मौसम बहुत ही आदर्श होता है और वर्षा ऋतु को छोड़कर (July se August,)यहां पर कभी भी आप पैराग्लाइडिंग का आनंद लेने के लिए जा सकते हैं।

बीर बिलिंग में पैराग्लाइडिंग करने की फीस

2500 से ₹4500 तक ( लगभग)

बीर बिलिंग के लोकप्रिय पैराग्लाइडिंग संचालक

ब्लू अंब्रेला पैराग्लाइडिंग

फ्रेंड्स एडवेंचर पैराग्लाइडिंग

कैंप ओक व्यू पैराग्लाइडर्स

बीर बिलिंग कैसे पहुंचे?

दोस्तों अगर आप बीर बिलिंग में पैराग्लाइडिंग कर भरपूर आनंद उठाना चाहते हैं तो हम आपको जानकारी दे दे कि यहां पहुंचने के लिए आपको नई दिल्ली से प्राइवेट वोल्वो या टाटा बस चलते हैं।इसके अलावा यहां का निकटतम हवाई अड्डा धर्मशाला है जो कि यहां से 72 किलोमीटर की दूरी पर है।

मेघालय

image credit by unsplash

शिलांग में पैराग्लाइडिंग

फिलहाल एक बेहद ही प्रसिद्ध हिल स्टेशन है। इसकी खूबसूरती पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। शिलांग हिल स्टेशन पर घूमने के लिए देश-विदेश से पर्यटक क्या खूब बड़ी मात्रा में आते हैं। शिलांग में पैराग्लाइडिंग के लिए आदर्श माहौल तैयार हो गया है। पैराग्लाइडिंग का आनंद लेने के लिए यहां पर अब काफी अधिक संख्या में पर्यटक रूचि दिखाने लगे हैं। यहां पर पैराग्लाइडिंग माध्यम स्तर की मानी जाती है जो कि 900 मीटर की ऊंचाई से की जा सकती है।

शिलांग में पैराग्लाइडिंग करने का सबसे अच्छा समय

दोस्तों अगर आप सलाम की यात्रा पर घूमने के लिए निकले हैं और पैराग्लाइडिंग कर लो उठाना चाहते हैं तो हम आपको जानकारी दे देती हैं पैराग्लाइडिंग करने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से लेकर जून तक का माना जाता है। क्यूकी वर्ष भर वर्षा ऋतु को छोड़कर पैराग्लाइडिंग के लिए यहां का मौसम अनुकूल होता है।

शिलांग में पैराग्लाइडिंग करने की फीस

1800 से लेकर ₹3000 के बीच में लगभग

शिलांग कैसे पहुंचे?

दोस्तों अगर आप शिलांग घूमने के लिए निकले हैं तो आप या अच्छी प्रकार जानते हैं कि यहां का सबसे अच्छा आवागमन का साधन सड़क परिवहन है बाकी अन्य साधन इतने अच्छे प्रकार से शिलांग से जुड़े हुए नहीं अब सड़क माध्यम से आसानी से यहां पर पहुंच सकते हैं।

बेंगलुरु

नंदी हिल्स

समुद्र तल से 14 मीटर की ऊंचाई पर स्थित नंदीहिल्स एक खूबसूरत पर्यटन स्थल होने के साथ-साथ पैराग्लाइडिंग के लिए भी आदर्श स्थान है।नंदी हिल्स के आसपास की सपाट तथा इसे पैराग्लाइडिंग करने के लिए सबसे अच्छी जगह में से एक बनाती है।

नंदी हिल्स में पैराग्लाइडिंग करने का सबसे अच्छा समय

नंदी हिल्स में पैराग्लाइडिंग का आनंद लेना चाहते हैं तो यहां पर आने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से लेकर मई तक का माना जाता है।

नंदी हिल्स में लोकप्रिय पैराग्लाइडिंग संचालक

Fly zone adventure

Paragliding in Bangalore

Parasailing in Bangalore

Horizon adventures

नंदी हिल्स बेंगलुरु कैसे पहुंचे?

नंदी हिल्स पहुंचने के लिए आप बेंगलुरु के किसी भी कोने से आसानी से बस या प्राइवेट कैब के माध्यम का प्रयोग कर सकते हैं। यहां का निकटतम एयरपोर्ट बेंगलुरु एयरपोर्ट है जोकि नंदी हिल से 68 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

नंदी हिल्स में पैराग्लाइडिंग करने की फीस

नंदी हिल्स में पैराग्लाइडिंग करने का शुल्क 1800 ₹से शुरू होता है।

सिक्किम

गंगटोक में पैराग्लाइडिंग

गंगतोक बहुत खूबसूरत पर्यटन केंद्र है जो सिक्किम की सुंदरता में चार चांद लगाता है अगर आप उनको जाते हैं तो आपको यहां पर पैरा गार्डिंग करने का रोमांचकारी अनुभव मिलता है।गंगतोक को सबसे अच्छी पैराग्लाइडिंग वाली जगहों में से एक माना जाता है।

गंगटोक कैसे पहुंचे?

मनोज पहुंचने के लिए सबसे अच्छा साधन रेल परिवहन का होता है यहां का निकटतम रेलवे स्टेशन न्यू जलपाईगुड़ी है और निकटतम एयरपोर्टबागडोगरा है जो लगभग 126 किलोमीटर की दूरी पर है।

गंगतोक में पैराग्लाइडिंग करने की फीस

गंगतोक में पैराग्लाइडिंग करने की फीस ₹2400 से लेकर ₹3000 तक की है।

गंगटोक में पैराग्लाईडिंग संचालक

एडवेंचर जोन सिक्किम

सिक्किम पैराग्लाईडिंग एसोसिएशन

सिक्किम पैराग्लाईडिंग

फ्लाई जोन सिक्किम 

गंगटोक में पैराग्लाइडिंग करने का सबसे अच्छा समय

गंगतोक में पैराग्लाइडिंग करने के लिए सबसे आदर्श समय गर्मी का मौसम माना जाता है।

जो कि मार्च से लेकर जून तक होता है।

गोवा

आरामबोल में पैराग्लाइडिंग

गोवा के समुद्र तटों में आरामबोल प्रमुख है। और यहां की शांत और चिकनी हवा पैराग्लाइडिंग के लिए एक आदर्श माहौल तैयार करती है। दोस्तों अगर आप पैराग्लाइडिंग की शुरुआत कर रहे हैं और इस रोमांचकारी अनुभव को महसूस करना चाहते हैं तो आरामबोल आपके लिए सबसे अच्छा विकल्प हो सकता है। यहां की बहती हुई शांत हवा की वजह से आरामबोल पैराग्लाइडिंग के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है।

आरामबोल में लोकप्रिय पैराग्लाइडिंग संचालक

Goa extreme

Extacee camp

आरामबोल कैसे पहुंचे?

आरामबोल का निकटवर्ती हवाई अड्डा डाबोलिम हवाई अड्डा है। जो कि यहां से 90 किलोमीटर की दूरी पर है। इसके अलावा गोवा के सभी सड़क परिवहन के साधनों से आसानी से आरामबोल पहुंच सकते हैं।

आरामबोल में पैराग्लाइडिंग करने का सबसे अच्छा समय

आरामबोल में पैराग्लाइडिंग करने के लिए वर्ष भर पर्यटक आते हैं परंतु यहां का सबसे अच्छा मौसम अक्टूबर से जून तक का माना जाता है।

आरामबोल में पैराग्लाइडिंग की फीस

     2000 रुपए से शुरू ।

उत्तराखंड

imgae credit by 365hops.com

नैनीताल में पैराग्लाइडिंग

दोस्तों नैनीताल एक खूबसूरत पर्यटन हिल स्टेशन होने के साथ-साथ paragliding के लिए भी जाना जाता है। नैनीताल में 9 कुचिया ताल के समीप पैराग्लाइडिंग की सुविधा उपलब्ध होती है। नैनीताल में पंछी की बातें ऊपर उड़ते हुए नैनीताल की खूबसूरत परिदृश्य को देखने का एक अपना ही अलग रोमांच है। अगर आप नैनीताल की यात्रा पर घूमने निकले हैं तो आपको एक बार नैनीताल में पैराग्लाइडिंग का रोमांचकारी अनुभव जरूर करना चाहिए।

नैनीताल कैसे पहुंचे?

पैराग्लाइडिंग करने के लिए नैनीताल जाना चाहते हैं तो आपको सबसे अच्छा विकल्प सड़क परिवहन मिलता है। नैनीताल देश के सभी प्रमुख शहरों से अच्छी प्रकार से जुड़ा हुआ है।यहां का निकटतम रेलवे स्टेशन काठगोदाम है जो कि लगभग नैनीताल से 36 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

नैनीताल में पैराग्लाइडिंग करने का सबसे अच्छा समय

यूं तो वर्ष भर नैनीताल में पैराग्लाइडिंग के लिए आदर्श माहौल होता है परंतु सबसे अच्छा मौसम अक्टूबर से लेकर जून तक माना जाता है।

नैनीताल के लोकप्रिय पैराग्लाइडिंग संचालक

Skybirds adventure

Pathik World paraglaiders

नैनीताल में पैराग्लाइडिंग की फीस

नैनीताल में पैराग्लाइडिंग की फीस 1500 से लेकर ₹3000 तक की होती है।

महाराष्ट्र

पंचगनी में पैराग्लाइडिंग

महाराष्ट्र के सतना जिले में स्थित पंचगनीपैराग्लाइडिंग प्रेमियों के लिए स्वर्ग के समान है। इसकी सबसे अच्छी विशेषता यह है कि यहां का अनुकूल मौसम पैराग्लाइडर्स के लिए एक सुखद एहसास लेकर आता है।समुद्र तल से 12 मीटर की ऊंचाई पर स्थित पंचगनी पैराग्लाइडर्स के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है। यहां का मौसम वर्ष भर पैराग्लाइडिंग के लिए अनुकूल होता है।मुंबई घूमने और पुणे घूमने वाले लोग अक्सर पंच पंचगनी में आकर पैराग्लाइडिंग का लुत्फ जरूर उठाते हैं।

पंचगनी में पैराग्लाइडिंग करने का सबसे अच्छा समय

दोस्तों अगर आप पंचगनी में पैराग्लाइडिंग कर लो उठाना चाहते हैं और यह जानना चाहते हैं कि यहां पर पैराग्लाइडिंग करने का सबसे अच्छा समय कौन सा है हम आप को जानकारी देते कि यहां पर पैराग्लाइडिंग करने का सबसे अच्छा समय नवंबर से लेकर अप्रैल तक माना जाता है।

पंचगनी में पैराग्लाइडिंग करने की फीस

1800 से लेकर ₹3000 तक की पैराग्लाइडिंग की फीस पंचगनी में ली जाती है।

इन प्रमुख जगहों के अलावा पावना,मसूरी, मनाली, कमसेत,आदि जगहों पर भी पैराग्लाइडिंग की जाती है।

पंचगनी के लोकप्रिय पैराग्लाइडर्स संचालक

The revin hotel

Eeco camp

पैराग्लाइडिंग करने संबंधित जरूरी टिप्स

अगर आप पैराग्लाइडिंग के लिए जा रहे हैं तो हम आपको पैराग्लाइडिंग से बंधी जरूरी टिप्स देते हैं जो आपके लिए बहुत आवश्यक है तो आइए शुरू करते हैं

  • पैराग्लाइडिंग के लिए जाते समय खाली पेट रहे।
  • अपने डॉक्टर से बिट्टू फ्लाई का सर्टिफिकेट जरूर ले।
  • पैराग्लाइडिंग से जाते समय हेलमेट अवश्य पहने
  • आपके साथ पैराग्लाइडिंग करने वाला आपका प्रशिक्षक प्रमाणित प्रशिक्षक है कि नहीं इस बात का विशेष ध्यान दें।
  • पैराग्लाइडिंग के लिए जाते समय अपने साथ रिजर्व पैराशूट और हार्नेस की भली प्रकार जांच कर ले।
  • पैराग्लाइडिंग के लिए जाते समय शांत रहें और अधिक ना सोचे।
  • पैराग्लाइडिंग के लिए जाते समय हल्के और कंफर्टेबल वस्त्र पहने।
  • पैराग्लाइडिंग करने से पहले वहां के मौसम और हवा के बारे में विशेष रुप से जानकारी प्राप्त कर लें।
  • पैराग्लाइडिंग करते समय अपने लैंड एरिया पर आने वाले रुकावट पर विशेष ध्यान दें जैसे कि बिजली के तार और घने पेड़ आदि।
 पैराग्लाइडिंग की सुरक्षा के लिए क्या ना करें?
  • बहुत तेज हवा चलने पर पैराग्लाइडिंग ना करें या खतरनाक हो सकता है।
  • बरसात के समय पैराग्लाइडिंग से परहेज करें।
  • पैराग्लाइडिंग करने के लिए अधिकतम वजन 120 किलोग्राम होता है इससे ज्यादा का वजन होने पर आप पैराग्लाइडिंग नहीं कर सकते।
  • 18 वर्ष से कम बच्चों को पैराग्लाइडिंग की अनुमति नहीं होती है।
  • पैराग्लाइडिंग के लिए जाते समय अधिक घबराए नहीं।
  • पैराग्लाइडिंग के लिए जाते समय अधिक मात्रा में भोजन ना करें।
  • पैराग्लाइडिंग के लिए उड़ान भरते समय घबराहट से बचें।

तो दोस्तों यह रही  पैराग्लाइडिंग के विषय में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी और भारत में पैराग्लाइडिंग करने के लिए प्रमुख जगहों के बारे में जानकारी 

उम्मीद है आपको हमारा ये लेख पसंद आएगा हमारा ये लेख पसंद आने पर अपने दोस्तों को शेयर करना ना भूले 

धन्यवाद

और अधिक जानकारी के लिए हमे ज्वाइन करे

फेसबुक

twitter

हमारे अन्य लेख

रिवर राफ्टिंग क्या हैं? भारत में रिवर राफ्टिंग करने की प्रमुख जगहें

भारत में स्काइडाइविंग और भारत में स्काइडाइविंग के टॉप 7 स्थान

उत्तराखंड में घूमने लायक टॉप जगहें

Leave a comment