२०२० में कुल्लू और मनाली के टॉप खूबसूरत पर्यटन केंद्र जहाँ आपको जरूर जाना चाहिए

 दुनिया में दुनिया भर में अपनी प्राकृतिक सुंदरता के लिए मशहूर कुल्लू मनाली खूबसूरत जगह है पर्यटकों को अपनी तरफ बरबस ही आकर्षित करती रहती हैं | दोस्तों यह जगह स्वर्ग से कम नहीं है हिमाचल प्रदेश में स्थित कुल्लू मनाली प्रेमी जोड़ों और विशेषकर हनीमून कपल्स के लिए एक आदर्श स्थान माना जाता है |

यह सुंदर हिल स्टेशन समुद्र तल से करीब 6300 फीट की ऊंचाई पर स्थित है भारत का यह सबसे ज्यादा घूमने जाने वाला पर्यटन स्थल है |

यहां पर काफी अधिक संख्या में लोग इस खूबसूरत जगह प्राकृतिक हरियाली और बर्फ बर्फीली चोटियों का आनंद लेने के लिए यहां आते हैं तो चलिए शुरू करते हैं कुल्लू मनाली के 10 बेस्ट घूमने लायक जगहों के बारे में

नगर कैसल

nagar castle image informative

यह खूबसूरत घर मनाली से लगभग 22 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है इसका निर्माण सन 1460 में प्राचीन कुल्लू के राजा सिद्ध सिंह जी ने करवाया था |

और इसको अपना निवास स्थान बनाया हुआ था इस स्पेशल की सबसे खास बात यह है कि यहां पर किसी भी प्रकार के लोहे का प्रयोग नहीं हुआ है यह पूरी तरह से लकड़ी से बना हुआ है |

यह व्यास नदी के तट के किनारे पर मौजूद है बॉलीवुड फिल्मों में भी कैसल को कई बार दिखाया गया है परंतु वर्तमान में हिमाचल प्रदेश टूरिज्म यहां पर होटल के रूप में अपनी सेवाएं दे रहा है |

दी ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क

himalayan national park image informatve

इसको जवाहरलाल नेहरू ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क के नाम से भी जाना जाता है 60 स्क्वायर किलोमीटर के वर्ग क्षेत्र में फैला यह अब कई पक्षियों और वनस्पतियों का गढ़ है कई लुप्त प्राय पक्षी भी इस जगह पर आपको देखने को मिल जाएंगे |

यह पार्क लुप्तप्राय पक्षियों की सुरक्षा हेतु जाना जाता है इस पार्क में विलुप्त पाए वनस्पतियों को भी संरक्षित किया गया है यह पार्क कुल्लू के सबसे अच्छे पर्यटन स्थलों में गिना जाता है |

रोहतांग पास( दर्रा)

rohtang pass informative image

रोहतांग पास मनाली से लगभग 54 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और इस की समुद्र तल से ऊंचाई 4113 किलोमीटर की है | यह दुनिया की सबसे ऊंची स्थानों पर चलने वाली सड़क है इस स्थान पर भारत ही नहीं संपूर्ण विश्व से पर्यटक घूमने के लिए आते हैं |

इस सड़क से आपको पहाड़ों और ग्लेशियस का शानदार नजारा देखने को मिलता है | चारों और बर्फ की चादर बिछी रहती है | इस जगह पर आप माउंटेन बाइकिंग पैराग्लाइडिंग जैसी एक्टिविटी भी कर सकते हैं |

परंतु ध्यान देने योग्य बात यह है कि यह दर्रा मई से लेकर सितंबर तक ही पर्यटकों के लिए खोला जाता है सितंबर के बाद भारी बर्फबारी होने के चलते इसे बंद कर दिया जाता है रोहतांग दर्रे की यात्रा करने के लिए आपको हिमाचल टूरिज्म से परमिशन लेनी पड़ती है |

सोलंग वैली

sholang velly informative image

दोस्तों यह वैली 300 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है और यह मनाली की सबसे प्रसिद्ध वैली है | इसे स्नोपाइंट के नाम से भी जाना जाता है इस स्थान पर हर साल विंटर फेस्टिवल का भी आयोजन किया जाता है जिसमें भाग लेने के लिए देश-विदेश से पर्यटक यहां इकट्ठा होते हैं |

इस जगह पर पैराग्लाइडिंग घुड़सवारी स्किंग आदि मनोरंजन खेल भी होते रहते हैं इस वैली के दूसरे छोर पर अति प्राचीन शिव मंदिर भी मौजूद है यह स्थान अपने रोमांचक एक्टिविटी के कारण एडवेंचर वैली के भी नाम से जाना जाता है यहां पर पर्यटक विशेषकर हनीमून कपल अधिक संख्या में आते हैं |

जोगिनी वॉटरफॉल

jogini waterfalls informative image

जोगिनी वाटरफॉल भारत के गिने-चुने प्राकृतिक वॉटरफॉल्स में से एक है यह कुल्लू घाटी से होकर बीस रिवर को मिलता है यह स्थान की देवी जोगनी जी का पवित्र स्थल माना जाता है इसे महिला सशक्तिकरण का स्थल भी कहा जाता है |

इसे शक्तिपीठ के रूप में पूजा की जाती है यह वाटरफॉल देखने में अत्यंत भव्य नजारे प्रस्तुत करता है झरने के नीचे मंदिर और उसके नीचे एक और मुख्य मंदिर बना हुआ है जहां पर कई प्रकार के अनुष्ठानों के आयोजन होते रहते हैं भक्ति और पर्यटन के लिहाज से यह एक आदर्श स्थान है |

हिडिंबा देवी मंदिर

hidimba mandir informative image

यह मंदिर माल रोड से लगभग 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है इस मंदिर की रचना लगभग 1553 ईसवी में यहां के राजा बहादुर सिंह जी ने करवाई थी इस मंदिर के विषय में रोचक तथ्य है कि राजा ने इस निर्माण के पूरा हो जाने पर सभी कारीगरों के हाथ कटवा दिए थे |

यह मंदिर एक ही पत्थर को काटकर गुफा नुमा आकार में बनाया हुआ है यह राजा की कुलदेवी थी इसलिए इस मंदिर का निर्माण अत्यंत भव्य तरीके से करवाया गया था हर साल 14 मई को इस मंदिर में देवी का जन्मदिन मनाया जाता है और विशेष रूप से पूजन अर्चन किया जाता है |

देवी का जन्मदिन मनाने के लिए दूर-दूर से श्रद्धालु यहां पर आते हैं यहां होने वाली पूजा गौर पूजा के नाम से विख्यात है द्वार के जंगलों से घिरा यह क्षेत्र पर्यटकों के भी आकर्षण का प्रमुख केंद्र है |

ये भी पढ़े 

नैनीताल की खूबसूरत जगहें 

बनारस की घूमने लायक जगहें 

मथुरा घूमने लायक जगहें 

भारत में स्काइडाइविंग की जगहें और प्राइस 

मनाली का खूबसूरत स्थल रोजी वाटरफॉल

roji waterfalls informative image

रोजी वाटरफॉल पर्यटकों के बीच खासा लोकप्रिय स्थल है इसे मनाली का बेस्ट पिकनिक स्पॉट भी माना जाता है लंबे देवदार के पेड़ों और घने जंगलों और चारों तरफ से घिरी हुई प्राकृतिक हरियाली के लिए यह मशहूर वाटरफॉल पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है रोहतांग मार्ग पर स्थित यह वाटरफॉल बेहद खूबसूरत व्यू पेश करता है |

मनाली में ट्रैकिंग के लिए आदर्श स्थान चंद्रताल बार लाचा

यह शहर मनाली के बेस्ट ट्रैकिंग कराने के स्थलों में से एक है यह अपनी प्राकृतिक सुंदरता और रोमांचकारी अनुभव और शांतिपूर्ण वातावरण के लिए विख्यात है यह हिमालय क्षेत्र की सबसे ऊंचाई वाली झीलों में से एक है ट्रैकिंग को चाहने वाले पर्यटक यहां पर भारी संख्या में आते हैं |

मनाली में रिवर राफ्टिंग

river rafting in manali informative image

मनाली अपने नदियों और झरनों के लिए विख्यात है इसके साथ-साथ यहां पर पहाड़ों पर गिरी हुई बर्फ भी पर्यटकों को काफी अधिक संख्या में आकर्षित करती है इसके साथ यहां की तेज बहती हुई नदियों में रिवर राफ्टिंग करना शानदार अनुभव हो सकता है |

यदि आप सपोर्टर हैं और एडवेंचर स्पोर्ट्स को प्यार करते हैं तो आपको रिवर राफ्टिंग का जरूर आनंद लेना चाहिए दुनिया के सर्वश्रेष्ठ राफ्टिंग स्टेटस में से एक मनाली एक बेस्ट रिवर राफ्टिंग स्थल के रूप में प्रसिद्ध हो चुका है |

कुल्लू मनाली में होने वाले रोमांचक खेल

skying image informative

अपने प्राकृतिक स्थानों के लिए विख्यात कुल्लू मनाली मैं कई प्रकार के रोमांचक खेलों का भी आयोजन किया जाता है इन खेलों में पैराग्लाइडिंग, ट्रैकिंग, स्कीइंग , रिवर राफ्टिंग आदि अनेक प्रकार के बर्फ में होने वाले खेल दर्शकों को अपनी ओर आकर्षित करते हैं यह स्थान वर्तमान समय में भारत के प्रमुख पर्यटन केंद्रों के रूप में विख्यात है |

कुल्लू मनाली आने का सबसे अच्छा समय

यहाँ आने का सबसे अच्छा समय मई और सितंबर के मध्य का माना जाता है क्यों कि सितंबर के बाद यहां भारी बर्फबारी होने लगती है और यह अप्रैल तक चलती है यह पूरा क्षेत्र बर्फ की चादर से ढक जाता है सुरक्षा के लिहाज से कुल्लू मनाली के काफी क्षेत्र पर्यटकों के लिए बंद कर दिए जाते हैं इसलिए जब भी आप आए तो मई से सितंबर के बीच आए इससे आपको अपनी यात्रा को रोमांचकारी बनाने में सुविधा होगी |

कुल्लू मनाली की यात्रा करते समय कुछ आवश्यक बातें

  • आप जब भी यहां पर यात्रा करने आए तो अपनी यात्रा को पूर्व निर्धारित कर के आए |
  • इस खूबसूरत जगह पर अकेले यात्रा करने जहां तक हो सके ना है अपने परिवार के साथ या अपने दोस्तों के साथ आप इस जगह का बेहतर तरीके से इंजॉय कर पाएंगे |
  • यहां आने से पूर्व यहां के मौसम की अच्छी प्रकार जानकारी कर ले उसी के हिसाब से अपने कपड़े की पैकिंग करें |
  • यहां के स्थान अधिक ठंडी होने के कारण अपने साथ स्वेटर साल जैकेट स्कार्प शूज आदि लाना ना भूलें |
  • अधिक संख्या में भारी सामान के साथ यात्रा ना करें इससे आपको यात्रा करने में कठिनाई हो सकती है |
  • कुल्लू मनाली की यात्रा करने से पहले अपने स्वास्थ्य की जांच अच्छी तरह से कर ले भली प्रकार से स्वस्थ आदमी ही एक अच्छी यात्रा का भरपूर मनोरंजन कर सकता है |
  • अपने साथ सर्दी जनित रोगों की कुछ दवाई भी ले ले मौसम में बदलाव के कारण आपको हल्की सर्दी खांसी जुकाम आदि के लक्षण हो सकते हैं |

कुल्लू और मनाली कैसे पहुंचे?

बस द्वारा कुल्लू मनाली कैसे पहुंचे ?

अगर आपने कुल्लू और मनाली पहुंचने के लिए बस यातायात का चुनाव किया है तो यह दिल्ली से भली प्रकार से जुड़ा हुआ है दिल्ली से मनाली की दूरी 580 किलोमीटर की है इस दौरान शिमला धर्मशाला ले और चंडीगढ़ से भी मनाली की नियमित बस सेवाएं उपलब्ध है अगर आप अपनी पर्सनल कार से मनाली आ रहे हैं तो यह सुनिश्चित कर लें कि आप के ड्राइवर को पहाड़ी क्षेत्रों में गाड़ी चलाने का विशेष अनुभव हो |

ट्रेन द्वारा कुल्लू मनाली कैसे पहुंचे?

ट्रेन द्वारा कुल्लू मनाली पहुंचने के लिए मुख्य रूप से निकटतम रेलवे स्टेशन जोगिंदर नगर है जो यहां से 50 किलोमीटर की दूरी पर है और कुल्लू के लिए 120 किलोमीटर की दूरी पर है यह रेलवे स्टेशन देश के सभी प्रमुख शहरों से जुड़ा नहीं है इसके अलावा आप मनाली आने के लिए अंबाला कैंट या चंडीगढ़ भी उतर सकते हैं यहां से आप प्राइवेट टैक्सी एक ऐप के माध्यम से शिमला और कुल्लू मनाली घूम सकते हैं

हवाई जहाज के द्वारा कुल्लू मनाली कैसे पहुंचे?

यहां का निकटतम हवाई अड्डा भुंतर है जो मनाली से 50 किलोमीटर की दूरी और कुल्लू से 115 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है हवाई अड्डे के बाहर से आप टैक्सी लेकर कुल्लू और मनाली तक आसानी से पहुंच सकते हैं |

तो दोस्तों यह है कुल्लू और मनाली के कुछ प्रमुख पर्यटन स्थल जहां आपको जरूर जाना चाहिए उम्मीद है आपको हमारा यह लेख पसंद आएगा अपनी राय हमें जरूर दें |

Leave a comment

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)