2020 में नैनीताल की खूबसूरत जगहें जहाँ आपको जरूर जाना चाहिए

नैनीताल जिसका नाम सुनकर सुंदर झीलों और खूबसूरत प्राकृतिक नज़ारो का चित्र मन में आ जाता है | नैनीताल का नाम नैना देवी के मंदिर से भी लिया गया है | इसे झीलों का शहर भी कहा जाता है| और यह जगह भारत का स्विट्जरलैंड भी कहा है |

नैनीताल का सुहावना मौसम हरे भरे विशाल वृछ ,हसीन वादियां ,पहाड़ों पर रुई नुमा बिछी हुई सफेद बर्फ, इसे विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल बनाती हैं अगर आपके पास 1 हफ्ते का समय है तो आपको नैनीताल घूमने जरूर आना चाहिए |

यहां की हसीन वादियों में आप ट्रैकिंग ,रोपवे ,वोटिंग, रिवर राफ्टिंग, आदि का भरपूर आनंद उठा सकते हैं |

तो चलिए शुरू करते हैं नैनीताल के कुछ खूबसूरत पर्यटन स्थलों के बारे में

नैना देवी का मंदिर

नैनादेवी मंदिर

नैनी झील के समीप ही स्थित प्राचीन और भव्य मंदिर नैना देवी मंदिर के नाम से जाना जाता है | यह कहा जाता है कि नैनीताल का नाम भी नैना देवी के नाम पर ही रखा गया यह मंदिर बेहद खास माना जाता है |

क्योंकि यहां पर भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं यहां पर दूर-दूर से श्रद्धालु देवी के दर्शन करने के लिए आते हैं | नवरात्र के समय पर यहां पर भक्तों की काफी अधिक संख्या में भीड़ देखी जाती है|

खूबसूरत नैनी झील

नैनी झील इन्फोर्मटिवे

यह प्राकृतिक झील बेहद खूबसूरत है पर्यटकों को अपनी और आकर्षित करती है यहां के दृश्य बेहद मन को संतुष्टि और आनंद से भर देने वाले होते हैं |

यहां पर पर्यटक वोटिंग का भरपूर आनंद उठा सकते हैं नैनी झील शहर के बीचोंबीच स्थित है इसके चारों ओर विशाल पहाड़ है जो नैनीताल को बेहद खूबसूरत पर्यटन स्थल बनाते हैं |

नैनीताल की सबसे ऊंची चोटी नैना पिक

नैना पीक इन्फोएमटीव

यह पिक नैनीताल की सबसे ऊंची चोटी है जो पर्यटकों को बेहद आकर्षित करती है | बेहद ऊंचाई पर होने के कारण पर्यटकों के लिए यहां खच्चर और टट्टू का भी इंतजाम किया गया है | यह स्थान ट्रेकिंग के लिए मुफीद माना जाता है यहां पहुंच कर आप पूरे नैनीताल के खूबसूरत नजारे को एक ही जगह से देख सकते हैं

नैनीताल वन्य जीव अभ्यारण

नैनीताल चिडिआघर इमेज जानकारी

नैनीताल चिड़ियाघर की सबसे खास बात यह है कि अब बच्चों को विशेष तौर पर ध्यान रखकर बनाया गया है यहां पर काला चीता, बाघ, भालू, जंगली बिल्ली, हिरन,शेर , आदि जानवर प्राकृतिक परिवेश में रहते हैं | इसके साथ-साथ यहां का नजारा बेहद ही हरियाली भरा होता है|

 बर्फीली जगह स्नो व्यू

स्नो व्यू जानकारी के लिए

मुख्य स्टेशन से करीब 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यह पॉइंट बेहद ही खूबसूरत और रमणीक है यहां पर पहुंचकर पर्यटक आसपास के विशाल पर्वतों की विशाल चोटियों को देख सकते हैं यहां का नजारा अत्यंत अद्भुत होता है स्नोव्यू पर तो पैदल चला जा सकता है परंतु पर्यटकों के लिए यहां पर घोड़ों की भी उत्तम व्यवस्था है |

नैनीताल का मशहूर (उड़न खटोला) रोपवे

रोपवे नैनीताल की जानकारी

पूरे नैनीताल का अगर आप ऊपर से खूबसूरत नजारा देखना चाहते हैं तो इसके लिए नैनीताल प्रशासन के द्वारा रोपवे का भी प्रबंध किया गया है इसका सफर बेहद रोमांचक और एडवेंचर से भरा हुआ होता है अगर आप नैनीताल आना चाहते हैं तो एक बार रोपवे की सवारी जरूर कीजिएगा |

नैनीताल का मशहूर इको केव गार्डन

यह स्थान अपने इंटरकनेक्टेड चट्टानी गुफाओं के लिए प्रसिद्ध है इसके अंदर आपको संगीतमय फव्वारे और विभिन्न जानवरों के आकार में छोटी छोटी है गुफाओं का एक समूह बनाया गया है इसके अलावा आप यहां पर म्यूजिकल फाउंटेन का भी आनंद ले सकते हैं |

नैनीताल में घूमने का स्थान माल रोड

मॉल रोड नैनीताल जानकारी

नैनीताल का यह रोड नैनी झील के समानांतर ही चलता है जो पहाड़ी शहर के दो चोरों को जोड़ने के लिए बनाया गया है इस रोड का प्रमुख आकर्षण यहां की खरीदारी भोजन और सांस्कृतिक व्यवस्था है आप यहां पर लजीज व्यंजनों का स्वाद ले सकते हैं |

इस स्थान पर वूलन आइटम्स की खरीदारी भी कर सकते हैं प्रेमी जोड़ों को अक्सर यहां पर बाहों में बाहें डाले घूमते हुए देखा जा सकता है इसके अलावा माल रोड से स्नो व्यू प्वाइंट तक एक रोपवे केबल कार की भी सुविधा मिल जाती है |

सेब के बागान के लिए मशहूर रामगढ़

रामगढ़ दर्शनीय स्थल माना जाता है क्योंकि यहां से वो को बाघ अत्यधिक संख्या में होते हैं या पर्यटकों को खासा पसंद आते हैं या भी माना जाता है कि रविंद्र नाथ टैगोर ने अपनी पुस्तक गीतांजलि की रचना इसी स्थान पर की थी |

मुक्तेश्वर व्यू पॉइंट

यह व्यूप्वाइंट पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है क्योंकि यहां पर हिमालय की चोटियां ऐसी दिखती हैं जैसे बर्फ की रूई से ढक दिया गया हो यहां का मनमोहक दृश्य पाठकों को अपनी ओर आकर्षित करता है |

नैनीताल जाने का सबसे अच्छा समय

गर्मियों में

नैनीताल में तो बरस बरस पर्यटक आते रहते हैं गर्मियों में इनकी संख्या काफीअधिक हो जाती है क्योंकि यहां पर पर्वतीय होने के कारण मैदानी इलाकों की अपेक्षा सूरज की रोशनी कुछ कम पड़ती है जिससे गर्मी काफी मात्रा में होती है |

मानसून के समय

जून से लेकर अक्टूबर तक का समय पर्यटकों के लिए अच्छा माना जाता है क्योंकि यहां पर बरसात में चारों और हरियाली हो जाती है जिससे खूबसूरत प्राकृतिक नजारे को देखने का आनंद आता है पर्यटक यहां मानसून के समय में भी आ सकते हैं |

सर्दियों में नैनीताल आने का समय

अक्टूबर से लेकर फरवरी तक यहां का मौसम काफी अच्छा माना जाता है विशेषकर दिसंबर से लेकर जनवरी आखरी तक यहां पर आपको स्नोफॉल देखने को मिलती है चारों ओर बर्फ की चादर बिक जाती है सबसे ज्यादा संख्या में पर्यटक इसी समय नैनीताल घूमने के लिए आते हैं |

शिमला में घूमने वाली जगहें

यात्रा की तैयारी कैसे करें

भारत में स्काइडाइविंग करने वाली जगहें

हनीमून मनाने की भारत में सस्ती और अच्छी जगहें

कुल्लू मनाली में घूमने वाली जगहें

नैनीताल जाते समय ध्यान देने योग्य जरूरी बातें बातें

मैदानी इलाकों की तुलना में नैनीताल में मौसम कुछ अधिक ठंडा होता है इसलिए अपने कपड़ों का चुनाव उचित तौर पर करें जिससे वहां आपको असुविधा ना हो |

यहां पर ट्रैकिंग और पर्वतारोहण के लिए एक आदर्श स्थान है यहां पर आप जूते ऐसे ले जो ट्रक पर चलने और पहाड़ों पर चलने के योग हो |

यहां के खूबसूरत मैदानी इलाकों पर आप छोटे-मोटे आकर्षक खेल भी खेल सकते हैं इसके लिए आप अपने साथ एक स्पोर्ट्स आइटम जैसे फुटबॉल क्रिकेट का सामान बैडमिंटन रैकेट आदि ले जाना ना भूलें |

आपको अगर शॉपिंग पसंद है तो नैनीताल जाते समय अपने साथ कैरी बैग वगैरा ले ले क्योंकि यहां पर काफी अधिक संख्या में ऐसी चीजें मिल जाएंगी जो आपको देखते ही पसंद आ जाएंगी और आप उन्हें खरीदना पसंद करेंगे |

नैनीताल में घूमने में कितने दिन लगते हैं?

यहां घूमने के लिए आपको कम से कम 4 से 5 दिन का पर्याप्त समय चाहिए तब आप पूरे नैनीताल का भ्रमण कर सकते हैं और इस टूर को इंजॉय फूल बना सकते हैं | नैनीताल की खूबसूरती ऐसी होती है कि आपको 1 दिन अतिरिक्त लग जाता है और जल्दी-जल्दी में सारी जगहों को आप अच्छी तरह से भ्रमण नहीं कर सकते इसलिए कम से कम 4 से 5 दिन का अवश्य लें |

नैनीताल कैसे पहुंचे?

ट्रेन द्वारा नैनीताल कैसे पहुचें ?

नैनीताल पहुंचने के लिए ट्रेन मार का अगर आपने चुनाव किया है तो यहां का सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन काठगोदाम है काठगोदाम भारत के सभी प्रमुख रेलवे मार्गो से अच्छी प्रकार से जुड़ा हुआ है काठगोदाम नैनीताल से लगभग 36 किलोमीटर की दूरी पर है यहां से नियमित बस सेवाएं आपको नैनीताल पहुंचा सकती हैं |

बस द्वारा नैनीताल कैसे पहुंचे?

सड़क परिवहन से नैनीताल अगर आप पहुंचना चाहते हैं तो यह दिल्ली से नियमित तौर पर नैनीताल की बस सेवाएं उपलब्ध हैं इसके अलावा भी अन्य प्रमुख शहरों से सीधी नैनीताल की बस सेवाएं चलती हैं इसके अलावा अगर आपका बजट अच्छा है तो आप प्राइवेट टैक्सी के माध्यम से भी नैनीताल पहुंच सकते हैं |

हवाई मार्ग द्वारा नैनीताल कैसे पहुंचे?

हवाई मार्ग से नैनीताल पहुंचने के लिए कोई सीधी उड़ान उपलब्ध नहीं है परंतु यहां का सबसे निकटतम हवाई अड्डा पंतनगर हवाई अड्डा है जो यहां से लगभग 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है यहां पर कुछ प्रमुख शहरों से उड़ाने चलती है |

तो दोस्तों यह रहे नैनीताल की कुछ प्रमुख जगह जहां आप जाकर अपने वीकेंड या टूर का भरपूर इंजॉय कर सकते हैं उम्मीद है हमें हमारा आपको यह लेख पसंद आया होगा अपनी राय जरूर दें धन्यवाद

Leave a comment

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)